JNU के 9 और स्टूडेंट्स ने लगाए भेदभाव के आरोप

JNU के 9 और स्टूडेंट्स ने लगाए भेदभाव के आरोप

एक रिसर्च स्टूडेंट द्वारा पत्र लिखकर भेदभाव का आरोप लगाने के बाद मंगलवार को स्कूल ऑफ इंटरनैशनल स्टडीज के 9 और स्टूडेंट्स सामने आए और सभी ने कहा कि उन्हें उनकी कास्ट को लेकर जेएनयू में हैरस किया जाता है। ये सभी एससी/एसटी या ओबीसी कैटिगरी से हैं। इन 9 स्टूडेंट्स का आरोप है कि इस स्कूल में दलित, माइनॉरिटी स्टूडेंट्स या रूरल बैकग्राउंड से आने वाले स्टूडेंट्स के साथ कुछ टीचर्स भेदभाव करते हैं।

उन्होंने कहा कि बॉडी लैंग्वेज, लैंग्वेज, फैमिली बैकग्राउंड, इकनॉमिक, फिजिकल बैकग्राउंड जैसी बातें भी कुछ टीचर्स के लिए मायने रखती हैं। ऐसे मामले पहले भी आते रहते हैं, मगर दलित स्टूडेंट के लेटर लिखने के बाद यह बात उजागर हुई। लेटर लिखने वाले स्टूडेंट ने बताया कि मैंने इसे लेकर पहले भी शिकायत की है, एससी/एसटी सेल में भी शिकायत की, लेकिन ऐक्शन नहीं लिया गया।

आज चार्ज लेंगे नए वीसी
वहीं, बुधवार को यूनिवर्सिटी को नए वाइस चांसलर मिलने जा रहे हैं। आईआईटी दिल्ली के प्रफेसर एम जगदीश कुमार 27 जनवरी को वर्तमान वीसी प्रफेसर सोपोरी से वाइस चांसलर का चार्ज लेंगे। जगदीम कुमार इलेक्ट्रिकल इंजिनियरिंग डिपार्टमेंट से हैं और आईआईटी मद्रास से पढ़े हैं।

वे आईआईटी दिल्ली में इलेक्ट्रिकल इंजिनियरिंग डिपार्टमेंट में एनएक्सपी (फिलिप्स) के चेयर प्रफेसर के पद पर थे। इनसे पहले जेएनयू के लिए प्र. सोपोरी भी साइंस बैकग्राउंड से चुने गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*