स्वास्थ्य मंत्री, एसडीएम और बीएसए के पुतले फूंके

अधिकारियों के उत्पीड़न से तंग आकर शिक्षिका के अधिवक्ता पति विनय सिंह के आत्महत्या करने से नाराज वकीलों ने शुक्रवार को हंगामा किया। अधिवक्ताओं ने जुलूस निकालकर नारेबाजी की और स्वास्थ्य मंत्री, एसडीएम अमृतपुर तथा बेसिक शिक्षा अधिकारी के पुतले फूंके। कलक्ट्रेट में पुतला फूंकने के दौरान पुलिस कर्मी असहाय खड़े रहे।

साथी अधिवक्ता के आत्महत्या करने के विरोध में हड़ताल का ऐलान करने वाले अधिवक्ताओं ने शुक्रवार को कड़े तेवर दिखाये। बार एसोसिएशन के बाहर वकीलों ने एकत्र होकर प्रशासनिक अधिकारियों के उत्पीड़न की कहानी सुनाकर घटना में शामिल अधिकारियों की भ‌र्त्सना की। अधिवक्ताओं की जिस समय सभा चल रही थी, उस दौरान युवा अधिवक्ताओं का पुतला बनाने का कार्य जारी था। सभा के दौरान ही तैयार किये गये तीन पुतले लेकर युवा अधिवक्ता सभा के बीच आ गये। इन पुतलों को लेकर अधिवक्ताओं ने जुलूस निकालकर कलक्ट्रेट की ओर कूच किया। एसोसिएशन के अध्यक्ष विश्राम सिंह यादव व महासचिव संजीव पारिया के नेतृत्व में सैकड़ों अधिवक्ता स्वास्थ्य मंत्री, एसडीएम अमृतपुर व बीएसए के खिलाफ नारे लगाकर कलक्ट्रेट पहुंचे जहां पुलिस के सामने तीनों पुतलों से अभद्रपूर्ण व्यवहार करके आग के हवाले कर दिया। कलक्ट्रेट में भी अधिवक्ताओं ने सभा कर अधिवक्ता के सुसाइड नोट के आधार पर नामित लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने एवं दोषियों को सजा की मांग उठायी। अधिवक्ताओं ने वकील आत्महत्या प्रकरण में अधिकारियों को पूर्ण रूप से जिम्मेदार ठहराते हुए उन्हें पद से हटाने की मांग उठायी। इस बीच अधिवक्ताओं का ज्ञापन लेने के लिए एडीएम को बुलाये जाने की खबर आयी, लेकिन वकीलों ने डीएम को ही ज्ञापन देने की बात कहकर एडीएम को ज्ञापन सौंपने से इंकार कर दिया। पुतले फूंकने की सूचना मिलने पर अपर पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र कुमार मिश्र पुलिस के साथ कलक्ट्रेट आये। उन्होंने अधिवक्ताओं से वार्ता का प्रयास किया, लेकिन वकीलों ने वार्ता नहीं की। जिलाधिकारी मिनिस्ती एस. कलक्ट्रेट आयीं, उनके आने पर अधिवक्ताओं ने वार्ता कर ज्ञापन सौंपा।
Reference: Jagran

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*