धूमधाम से मनाई गई बाबा साहेब की जयंती

धूमधाम से मनाई गई बाबा साहेब की जयंती

डॉ. भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती के अवसर पर लखनऊ स्थित अंबेडकर पार्क में बहन मायावती जी पहुंची। उन्होंने अंबेडकर की मूर्ति पर फूल चढ़ाए। उन्होंने विरो‍धी पार्टियों पर जमकर निशाना साधा और कहा कि चुनावी फायदे के लिए सभी पार्टियों ने दलितों का इस्‍तेमाल वोट बैंक के रूप में किया। किसी ने भी दलितों को सम्‍मान नहीं दिया। वहीं, सूबे की सरकार स्मारकों के रखरखाव के लिए टिकटों से होने वाली कमाई को सैफई में लगा रही है।

उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोग चुनावी मौसम में दलितों को भी हिंदू होने की बात कहकर बहकाने की कोशिश करते हैं, लेकिन दलित बहकने वाला नहीं है। यूपी में इस समय सिर्फ परिवारवाद और गुंडाराज है। सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय की पार्टी को सत्‍ता में लाने के लिए जीतोड़ मेहनत करनी है।

निजी हमलों को लेकर भी बहन मायावती जी ने जमकर सभी को लताड़ा। उन्होंने कहा कि राजनीति में अब सिर्फ परिवारवाद का दौर चल रहा है, लेकिन उनके परिवार से कोई भी व्‍यक्ति राजनीति में नहीं आया है। इसके बावजूद लोग उनके परिवार को व्‍यापार करने को लेकर घेरने की कोशिश करते हैं।

मीडिया पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अच्छी बात कहने पर भी विरोधी चैनल गलत आरोप लगाते रहते हैं। गलत खबर दिखाने के लिए उद्योग‍पतियों के जरिए विरोधी पार्टियां चैनलों को मजबूर कर रही है। उनका कोई पब्लिकेशन नहीं है, लेकिन मीडिया गलत खबरें छापकर छवि खराब करने की कोशिश कर रहा है। यह विरोधियों की जातिवादी मानसिकता का नतीजा है।

भाजपा पर साधा निशाना
बहन मायावती जी ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि देश की कोई भी पार्टी दलितों और गरीबों के लिए कुछ नहीं करती। इसलिए गरीबों और पिछड़ों को हिन्दुत्व के बहकावे में नहीं आना चाहिए। सभी पार्टियां सत्‍ता में आने तक तो गरीबों को हर तरह की सांत्वना और आगे बढ़ाने का आश्वासन देती हैं, लेकिन सत्‍ता में आते ही वह भेदभाव करने लगती हैं। भाजपा और आरएसएस बाबा साहब को हिंदूवादी दिखाने की कोशिश करती है, जबकि वह समाज के हर वर्ग और धर्म को सूत्र में जोड़ने का काम करते थे।

हिंदू-मुस्लिम भाईचारे को करें मजबूत
सपा और भाजपा के अंदरुनी समझौते की ओर इशारा करते हुए बहन मायावती जी ने कहा कि यूपी में हिंदू-मुस्लिम अपने भाईचारे को मजबूत करें। उन्होंने कहा कि सूबे की कई पार्टियां राजनीतिक लाभ के लिए इस भाईचारे को तोड़ने का प्रयास कर रही हैं। किसानों को 100 रुपए का मुआवजा देने पर बहन मायावती जी ने सपा को जमकर लताड़ा। उन्होंने कहा कि किसानों को इस तरह मुआवजा देने के नाम पर उनके साथ मजाक किया जा रहा है। केंद्र की भाजपा सरकार भी सिर्फ विज्ञापनों में खुद को किसान हितैषी दिखाती है, लेकिन जमीनी हकीकत में वह सिर्फ उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने का काम कर रही है।

कांशीराम को मिले भारत रत्न
प्रमोशन में आरक्षण के मुद्दे पर बहन मायावती जी ने कहा कि पिछली सरकार ने प्रमोशन में आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट में सही दलील नहीं दी। इसकी वजह से फैसला दलितों के पक्ष में नहीं आ सका। दलितों और पिछड़ों को नौकरी में आरक्षण देने के प्रति सरकार का रवैया बेहद निराशाजनक है। यही कारण है कि सरकार प्राइवेट सेक्‍टर में आरक्षण को गंभीरता से लागू नहीं करना चाहती। आने वाले समय में यूपी विधानसभा चुनाव से पहले केंद्र सरकार कांशीराम को भारत रत्‍न देकर और दिल्‍ली के अलीपुर रोड स्थित बाला साहब अंबेडकर का स्‍मारक घोषित कर दे, लेकिन इसके बाद भी दलितों को भाजपा की इस दोहरी नीति से सतर्क रहने की जरूरत है।
maya2_1429001877

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*