सपा विधायक के घर में मिली लाश

इंदिरानगर के सेक्टर-18 में बृहस्पतिवार को सपा विधायक के बंद मकान के लॉन में एक कुक (32) का शव मिला। वह तीन दिन पहले वह विकासनगर में एक शादी समारोह में आया था।

कुक के शव पर सिर व चेहरे पर गहरे घाव हैं और उसका जूता व जैकेट गायब है। जामा तलाशी में मिले पर्स से डीएल, निर्वाचन कार्ड से मृतक की शिनाख्त की गई।

उत्तरांचल के पटवारी गागर चंपावत का रहने वाला कुक एक साल से चारबाग के शर्मा होटल में काम करता था। पुलिस उसकी मौत को हादसा बताते हुए नशे में बाउंड्रीवाल से गिरने की बात कह रही है।

सीओ गाजीपुर के मुताबिक, अपराह्न चार बजे गोमतीनगर के विकासखंड निवासी व एटा के सपा विधायक रामेश्वर सिंह यादव के बेटे डॉ. सुबोध यादव ने सूचना दी कि उनके इंदिरानगर स्थित 18/233 बंद मकान के लॉन में एक शव पड़ा है।

पुलिस ने शव बरामद कर छानबीन शुरू की तो मृतक के सिर एवं चेहरे पर गहरे घाव के निशान मिले। उसकी तलाशी में पुलिस को एक पर्स भी मिला।

इसी में मिले डीएल और वोटर आईडी से उसकी पहचान शर्मा होटल के कुक भैरव दत्त जोशी के रूप में हुई। बाद में पुलिस को पता चला कि वह विकासनगर में तीन दिसंबर को आयोजित एक वैवाहिक समारोह से गायब हो गया था।

पुलिस ने शर्मा होटल में रह रहे भैरव के साले चंद्रशेखर व दया किशन जोशी ने शव की शिनाख्त की। पुलिस का कहना है कि उत्तरांचल के पटवारी गागर चंपावत निवासी भैरव दत्त एक साल से शर्मा होटल में खाना बनाने का काम करता था।

तीन दिसंबर को दया किशन के बड़े ताऊ गोविंद कलम जोशी के बेटे की विकासनगर के सेक्टर-9 केके पैलेस में शादी थी। भैरव भी शादी में शरीक होने गया था।

बताया जा रहा है कि भैरव ने समारोह में दोस्तों के साथ जमकर शराब पी। द्वारचार में शामिल होने के बाद अचानक करीब ग्यारह बजे भैरव गायब हो गया।

साले दया किशन की मानें तो खोजबीन में कोई पता न चलने पर तीन दिसंबर की रात ही विकासनगर पुलिस को गुमशुदगी की तहरीर दी। मगर, पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की।

पुलिस ने उसकी फोटो लाने को कहा। दया किशन ने हत्या कर शव फेंकने की आशंका जाहिर की है। मगर, किसी से दुश्मनी होने की बात से इन्कार किया है। सीओ गाजीपुर का कहना है कि मृतक के शरीर पर चूना लगा है।

बाउंड्रीवॉल के पास लगे गुड़हल के पेड़ की टहनियां टूटी पड़ी हैं प्रतीत हो रहा है कि भैरव की मौत बावंड्री वॉल से गिरकर हुई है। मगर, भैरव इंदिरानगर कैसे पहुंचा? उसका जूता एवं जैकेट कहां है।

छह फूट बाउंड्री वॉल से गिरकर क्या किसी के सिर में इतना गहरा घाव हो सकता है। ऐसे तमाम सवालों के जवाब सीओ नहीं दे सके।

सीओ का कहना है कि, शव देखने से साफ है कि, भैरव की मौत तीन दिसंबर की रात ही हो गई थी। फिर पता लगाया जा रहा है कि भैरव का किसी से विवाद तो नहीं था। [Amar Ujala]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*