दो हत्याओं से मेरठ, मुजफ्फरनगर में फिर तनाव

दंगे से उबर रहे पश्चिमी उत्तर प्रदेश में दो युवकों की हत्याओं ने फिजा में एक बार फिर दहशत और तनाव घोल दिया है। मुजफ्फरनगर में नई मंडी कोतवाली क्षेत्र में नाई की दुकान करने वाले युवक को बाइक सवार दो लोगों ने गोली मार दी। अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। वारदात के बाद शहर में अफवाहों से दुकानों के शटर धड़ाधड़ गिरने शुरू हो गए। हत्या के विरोध में जाम और हंगामा कर रही भीड़ पर पुलिस ने लाठियां भांजी।

हत्या की दूसरी वारदात मेरठ में हुई। लावड़ के पास तीन बदमाशों ने दो सगे भाइयों पर नाम पूछकर जानलेवा हमला कर दिया। एक भाई की मौत हो गई। दूसरा भाई किसी तरह जान बचाकर भाग निकला। गुस्साए लोगों ने पुलिस चौकी में खड़े वाहनों में तोड़फोड़ कर दी और आगजनी का भी प्रयास किया।

मुजफ्फरनगर में पचेंडा रोड पर 28 वर्षीय आबिद हेयर ड्रेसर की दुकान करता था। बुधवार देर रात वह दुकान बंद कर रहा था, उसी समय बाइक पर आए दो युवक आबिद पर फायरिंग कर फरार हो गए। लहूलुहान आबिद सड़क पर गिर गया। आसपास के दुकानदार खून से लथपथ आबिद को जिला अस्पताल के लिए लेकर गए, लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। इस घटना के बाद पचेंडा रोड के बाजार बंद हो गए और आबिद के गांव गढ़ी गांव में तनाव फैल गया।

लोग जिला अस्पताल में पहुंच गए और संप्रदाय विशेष के लोगों पर हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। तनातनी के चलते आरएएफ, सीआरपीएफ और कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। तहरीर देने के बाद भीड़ नारेबाजी करते हुए अस्पताल से बाहर निकल गई। इसके बाद इन लोगों ने सरवट चौक पर जाम लगा दिया। एक टीवी पत्रकार के कैमरे को तोड़ दिया और गाड़ियों पर पथराव किए। पुलिस ने लाठियां भांजकर उग्र भीड़ को तितर-बितर किया। तनाव के चलते शहर और गढ़ी में पुलिस की गश्त तेज कर दी गई है। एसपी क्राइम कल्पना सक्सेना ने लोगों से शांति व्यवस्था बनाए रखने का अनुरोध किया है।

उधर, मेरठ के मोदीपुरम में फर्नीचर की दुकान चलाने वाले जमालपुर के मोहसिन और शौकीन बुधवार देर शाम बाइक से लौट रहे थे। इसी दौरान लावड़ के पास जमालपुर रोड पर पांच बदमाशों ने दोनों भाइयों पर चाकुओं से हमला बोल दिया। मोहसिन की मौके पर मौत हो गई, शौकीन जान बचाकर गांव की ओर भागा। उसकी चीख सुनकर परिजन और ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंचे। खून से लथपथ मोहसिन को लावड़ में एक डॉक्टर से पास ले जाया गया, जहां उसने मौत की पुष्टि कर दी।

गुस्साए ग्रामीणों ने चौराहे पर जाम लगाकर हंगामा किया और लावड़ चौकी में तोड़फोड़ कर आगजनी का प्रयास किया। मामला सांप्रदायिक होने का पता लगते ही पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया। एसपी देहात एमएम बेग पीएसी, अर्द्धसैनिक बल और कई थानों की पुलिस के साथ लावड़ पहुंचे। एसएसपी ओंकार सिंह ने मौके पर जाकर पीड़ित परिवार को सरकार से आर्थिक मदद दिलाने का आश्वासन देकर शांत कराया। अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। [NBT]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*